घटनास्थल पर नहीं था सीसीटीवी कैमरा : मेट्रो रेलवे

metro-rail-press-conference.jpg

कोलकाता : दमदम मेट्रो स्टेशन में सोमवार की रात हुई घटना के संबंध में मेट्रो रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया। इस दौरान कुछ ऐसे तथ्य प्रकाश में आए हैं जिन्हें जानने के बाद मेट्रो स्टेशनों में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठने लगे हैं। मेट्रो रेलवे के वरिष्ठ सुरक्षा आयुक्त मुन्नवर खान ने कहा कि घटना के प्रकाश में आने के बात दमदम मेट्रो स्टेशन के सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगाल कर देखा गया मगर सोमवार की रात स्टेशन पर मारपीट की घटना के फुटेज नहीं पाए गये हैं। हालांकि रात 9.55 बजे स्टेशन की दक्षिण्ी ओर लगभग 15 लोगों को जमा होते देखा गया था। इस दौरान उन्होंने बताया कि दमदम मेद्रो स्टेशन पर लगभग 4 या 5 सीसीटीवी कैमरा लगे हैं, मगर घटनास्थल के आसपास कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था। दूर लगे कैमेरे में जितना आया उससे कुछ साफ नहीं हो पाया है। वहीं मेट्रो रेलवे के जीएम अजय विजयवर्गिय ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि मंगलवार को इस घटना को केंद्र कर कुछ युवकों द्वारा दमदम मेट्रो स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन कर रहे युवकों द्वारा एक मास पिटिशन फाइल की गयी जिसे सिंथी थाना को सौंप दिया गया। इस पिटिशन के आधार पर सुओ मोटो के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि मेट्रो में सुरक्षा व्यवस्था में वृद्धि की जाएगी। सभी मेट्रो स्टेशनों में अतिरिक्त सीसीटीवी कैमेरा लगाए जाएंगे। वहीं रात के वक्त सुरक्षा कर्मियों को मेट्रो स्टेशनों पर जयादा टहलदारी करने के आदेश दिये गये हैं। दूसरी ओर उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि मेट्रो टेन में एक दूसरे के साथ झगड़ा कर कोलकाता की संस्कृति व इतिहास को नश्ट न करें। इसके अलावा उन्होंने बताया कि दोनो पीड़ित चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन पर मेट्रो में चढ़े थे। वहीं अब तक दोनों सामने नहीं आए हैं जिस वजह से कार्रवाई में देर हो रही है।

Share this post

Leave a Reply

scroll to top