बी.एच लोया की संदिग्‍ध परिस्थितियों में हुई मौत की जांच के लिए दाखिल याचिकाए खारिज

judge-loya.jpg

नई दिल्ली : आज कई राजनीतिक पार्टियो को उस समय करार झटका लगा जब सुप्रीम कोर्ट ने सी बी आई के विशेष न्‍यायाधीश बी.एच लोया की मौत की जांच कराने से साफ इंकार कर दिया | सुप्रीम कोर्ट ने कहा की ये याचिकाए राजनीती से प्रेरित है |याचिकाकर्ताओं को जज की मौत पर शक इसलिए था क्योंकि वो सोहराबुद्दीन फ़र्जी एनकाउंटर मामले में जज थे | जिस मामले में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का नाम शामिल है | अब कई मीडिया घराने इसे दबाव मे दिया गया निर्णय बताने मे जुट गये है उनका यही कहना है कि क्या इस फैसले जो सवाल उठ रहे थे वो अब उठना बंद हो जायंगे |

वही राहुल गाँधी ने इस फैसे पर निराशा जतायी और अपने ट्वीटर हैंडल पर यह साझा किया

” भारतीय गहराई से बुद्धिमान हैं। भाजपा में शामिल अधिकांश भारतीय, सहज रूप से अमित शाह के बारे में सच्चाई को समझते हैं। सच्चाई के पास उनके जैसे लोगों को पकड़ने का अपना तरीका है |”

कानून के जानकर लोगो का  कहना है कि ये बयान राहुल गाँधी के लिए मुश्किले खड़ा कर सकता है | सुप्रीम कोर्ट उनसे कोर्ट की अवमानना  के लिए जवाब मांग सकती है |

 

Share this post

Leave a Reply

scroll to top