सीताबर्डी मेन रोड होगा “नो व्हीकल’ जोन

-30 जनवरी तक मनपा करेगी फेरीवालों का पुनर्वसन

-हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, बैक-टू-बैक बैठेंगे फेरीवाले

-नागपुर महानगरपालिका ने मांगा अतिरिक्त समय

नागपुर : सीताबर्डी समेत समस्त नागपुर के फेरीवालों के पुनर्वसन के लिए नागपुर महानगर पालिका को हाईकोर्ट से 30 जनवरी तक का समय मिला है। पूर्व में मनपा ने हाईकोर्ट में जानकारी दी थी कि बीते 31 दिसंबर तक फेरीवालों को हॉकर्स जोन में स्थानांतरित कर दिया जाएगा। लेकिन गुरुवार को मनपा ने हाईकोर्ट से अतिरिक्त समय मांगा। सीताबर्डी मेन रोड \”नो व्हीकल’ जोन होगा।

सुनवाई मंे मनपा ने कोर्ट को यह भी बताया कि टाउन वेंडिंग कमेटी ने शहर मंे कुल 53 हॉकर्स जोन तय किए हैं। इसमंे 4446 फेरीवालों का पुनर्वसन किया जाएगा। अगर इन 53 जोन में सभी फेरवालों को पुनर्वसन नहीं हो पाया, तो बाद की 64 जगहों में पुनर्वसन होगा। मनपा ने इसकी कारवाई भी शुरू कर दी है। याचिका में सीताबर्डी क्षेत्र के रास्तों पर फेरीवालों के डेरे, अनधिकृत निर्माण कार्य, अतिक्रमण, लंबित प्रकल्प, नियमों का उल्लंघन जैसे कई मुद्दे याचिका मंे उठाएं हैं। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता श्रीरंग भंडारकर और मनपा की ओर से अधिवक्ता जेमिनी कासट ने पैरवी की।

सीताबर्डी मेन रोड पर बैक-टू-बैक व्यवस्था

मनपा ने कोर्ट को जानकारी दी है कि सीताबर्डी मेन रोड के हॉकरों की समस्या के समाधान स्वरूप मनपा ने नया प्रारूप तैयार किया है। फेरीवालों और दुकानदारों के बीच के विवाद के हल स्वरूप अब मनपा फेरीवालों के लिए बैक-टू-बैक पैटर्न लाएगी। मेन रोड अब \”नो व्हीकल’ जोन घोषित किया जाएगा। पैदल यात्रियों के लिए मार्ग शुरू रहेगा। मेन रोड के बीच के पट्टे में फेरीवाले बैक टू बैक बैठेंगे। दुकानों के सामने फेरीवालों को डेरा नहीं होगा।

Share this post

Leave a Reply

scroll to top