सौरव गांगुली की आत्मकथा कर रही है बाज़ार पे दादागिरी

sourav-gangully.jpg

सौरव गांगुली की आत्मकथा ” ऐ सेंचुरी इस  नॉट एनफ ” हाल ही में प्रकाशित हुयी है | सौरव गांगुली ने अपने जीवन के कई अनजाने पह्लुहो पर इस किताब मे प्रकाश डाला है | सौरव गांगुली की ये किताब बेस्टसेलर किताबो मे सुमार हो गयी है | किताबो की बड़ी बड़ी दुकानों के सर्वाधिक बिकने वाली किताबो मे इसे स्थान मिल रहा है | इस किताब मे एक घटना का जिक्र सौरव गांगुली ने किया है जब एक अवसर पर कोलकाता में भीड़ से बचने के लिए ‘सरदारजी’ की तरह तैयार होना परा  था उस समय वो भारत के कप्तान हुआ करते थे  | ऐसी ही कई दिलचस्प घटनाओ के बारे मे उन्होंने इस किताब मे बताया है | इसमें क्रिकेट को लेकर काफी बात हुई पर उसको छोड़  के सौरव गांगुली ने इसमें अपने निजी जिन्दगी को लेकर भी कई बाते बतायी है | सौरव गांगुली ने  दुर्गा पूजा के बारे में इस किताब मे काफी  जिक्र  किया है | उन्होंने दुर्गा पूजा विश्रजन के माहोल के बारे मे वर्णन किया है कि कैसे देवी दुर्गा की मूर्ति नौ दिनों के उपरांत जब विश्रजन के लिए लेकर नदी मे जाया जाता है तो एक अदभुत खुशी और दुःख वाला माहोल एक अलग उर्जा का संचार लोगो मे करती है |

ऐसी कई घटनाओ का जिक्र इस किताब मे है | इस किताब मे और क्या क्या है इसके लिए ये किताब आपको पढनी होगी |

“ऐ सेंचुरी इस  नॉट एनफ” को अपनी लाइब्रेरी मे शामिल करने के लिए यहा क्लिक करे

 

Share this post

Leave a Reply

scroll to top