मेरठ : लेडीज टॉयलेट में स्कूल संचालक के कैमरे लगाने के बाद ये हुआ

hidden-camera1.jpg

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर से सनसनीखेज खबर सामने आई है। खबर एक निजी स्कूल से है। आरोप है कि स्कूल संचालक ने लेडीज टॉयलेट में कैमरा लगवा दिया। यह सब उसने इसलिए किया कि शिक्षिकाओं का यौन शोषण कर सके। वीडियो दिखाकर अनैतिक संबंध बनाने का दबाव डालने तक का आरोप महिला शिक्षकों ने लगाया है। बहरहाल, मामला अब थाने पहुंच गया है।
मेरठ : उत्तर प्रदेश के मेरठ के एक प्राइवेट स्कूल में लेडीज टॉयलेट में हिडन कैमरे लगाने की खबऱ सुनकर सबके होश उड़ गये. महिला टीचर ने स्कूल संचालक के खिलाफ़ थाने में जाकर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं. महिला टीचरों का आरोप है कि स्कूल में तंत्र मंत्र के साथ-साथ दूसरी अनैतिक गतिविधियों को भी अंजाम दिया जाता है. वहीं महिला टीचरों को परेशान करने के लिए लेडीज टॉयलेट में हिडन कैमरे पर लगा दिये गये. इस स्कूल में करीब 2 दर्जन से भी ज्यादा अध्यापिका है. सभी महिलाएं टीचर इस मामले को लेकर थाने पहुंची, जहां उन्होंने लिखित शिकायत देकर स्कूल संचालक पर कार्रवाई की मांग की है. वहीं पुलिस के अधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के लिए दो दरोगाओं की कमेटी बना दी है.

प्रबंधक और उसके बेटे पर गंभीर आरोप : मेरठ के थाना सदर बाजार क्षेत्र के ऋषभ एकेडमी में उस वक्त हंगामा मच गया जब महिला टीचरों ने प्रबंधक और उसके बेटे के खिलाफ अश्लील टिप्पणी करने का आरोप लगाते हुए मोर्चा खोल दिया. महिला टीचरों का आरोप है कि प्रबंधक रंजीत जैन और उसका बेटा महिला टीचरों के साथ अभद्र व्यवहार तो करते ही हैं साथ ही अश्लील टिप्पणी भी की जाती है. अपने कमरे में बैठकर स्कूल संचालक टॉयलेट जानी वाली महिला शिक्षकों की अश्लील फोटो खीचता है, दिखता है. इसके बाद उन फोटो वायरल करने की धमकी देकर खुद के साथ संबंध बनाने का दबाव बनाता है. टीचरों का आरोप है कि आरोपी स्कूल संचालक ने धमकियां देकर कई महीने की सेलरी भी रोक ली है. महिला टीचरों ने आरोपी पर तंत्र मंच के जरिए भी खुद को परेशान करने का आरोप लगाया है. जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. उधर, मीडिया वालों ने स्कूल संचालक से बात करने की कोशिश की। पर उसने फोन नहीं उठाया।

Share this post

Leave a Reply

scroll to top