यहां दवाएं मिलती हैं मुफ्त और मेडिकल जांच बाजार रेट से 5-6 गुना सस्ता

medicine1.jpg

नई दिल्ली। बीमारियों के चक्कर में पड़कर अच्छे-अच्छे कंगाल बन जाते हैं। इसलिए अच्छा यही है कि हम अपनी सेहत का ख्याल रखें। बावजूद इसके बीमारियां जकड़ ले रही हैं। इसके बाद शुरू होता है अस्पतालों का चक्कर काटना। बात यहीं खत्म नहीं होती। अस्पताल में दवा और जांच के नाम पर आपकी जेब भी खूब कटती है। दो-चार हजार रुपए तो अस्पतालों में पता ही नहीं चलता। जेब में भर-भरकर आप रुपए लेकर अस्पताल जाते हैं और पलक झपकते जेब खाली हो जाती है। ऐसे माहौल में अगर कोई सस्ती दरों पर दवा, जांच और इलाज उपलब्ध कराए तो भला आप क्या कहेंगे। यह सच है। ऐसा दिल्ली में हो रहा है। गुरुद्वारा सिंह सभा की सराहनीय पहल से अन्य संगठनों को भी सीख लेनी चाहिए।
3 साल से सेवा : रजौरी गार्डन के जे-ब्लॉक में 3 साल से चल रही गुरुनानक चैरिटेबल डिस्पेंसरी में महंगी से महंगी दवाएं मुफ्त में मिलती है। इतना ही नहीं, मेडिकल टेस्ट मार्केट रेट से 5 से 6 गुना सस्ते किए जाते हैं। इसे गुरुद्वारा सिंह सभा की ओर से संचालित किया जाता है।

हर रोज आते हैं 500 से अधिक मरीज : यहां तमाम बड़े अस्पतालों के मशहूर डॉक्टर मुफ्त कंसल्टेशन देते हैं। डॉक्टर मरीजों को जो दवा लिखते हैं, जब तक मरीज ठीक नहीं हो जाता वह फ्री दी जाती है। डिस्पेंसरी के पास खुद की लैब है, जिसमें हाई स्टैंडर्ड मशीनें हैं। यहां दिल्ली-एनसीआर से रोज करीब 500 से अधिक मरीज आते हैं।
3 साल में 6 लाख से अधिक का इलाज : डिस्पेंसरी के चेयरमैन सुरजीत सिंह सव्वरवाल ने बताया कि यहां तीन साल में 6 लाख से अधिक मरीजों को कंस्लटेशन और इलाज दिया जा चुका है। ओपीडी खुलने का समय सुबह 8:30-11:30 और शाम को 6.00-8.00 के बीच है। डिस्पेंसरी रविवार और सोमवार की सुबह तो खुलती है लेकिन शाम को बंद रहती है।
हर बीमारी का इलाज : आंख, दांत, हडि्डयों, त्वचा, घुटने का दर्द, किडनी, दिल, गर्भाशय, ब्लैडर से जुड़ी बीमारियों के इलाज के अलावा डिस्पेंसरी में फिजियोथेरेपी भी की जाती है। यहां चाइल्ड स्पेस्लिस्ट भी बैठते हैं। लेप्रोस्कोपी सर्जरी करने के साथ ही कैंसर के मरीजों को भी देखा जाता है।

एमआरआई से डायलिसिस तक : एमआरआई, अल्ट्रासांउड, किडनी इको, सीटी स्कैन, एक्सरे, लिपिड प्रोफाइल, लिवर फंक्शन टेस्ट, किडनी फंक्शन टेस्ट, सीबीसी, थाइरॉयड टेस्ट सहित रक्त, मल, मूत्र, थूक, बोन आदि से जुड़े सभी अहम टेस्ट किए जाते हैं। यहां डायलिसिस 750 रुपए में और रूट कैनाल 900-1500 रुपए में किया जाता है। फिजियोथैरेपी की अलग-अगल मशीनों से 40, 60, 80, 100 रुपए की सिटिंग है। प्रधान गुरुद्वारा सिंह सभा (सदस्य दिल्ली कमेटी) के हरमनजीत सिंह ने बताया कि हमने बहुत से लोग देखे जो जिन्हें कैंसर और किडनी की बीमारियों के इलाज के लिए अपनी जायदाद बेचनी पड़ी। हमने डिस्पेंसरी में ऐसे मरीजों को राहत देने की सोची। गुरुद्वारे के सभी सदस्यों को साथ लेकर दवाओं और मशीनों का इंतजाम किया। यह गुरुनानकदेव जी का घर है। किसी के पास पैसा नहीं है, तो उसका भी इलाज किया जाता है।

Share this post

Leave a Reply

scroll to top